bulletin News from Jharkhand urban rural areas:-प्लास्टिक के नीचे गुजर-बसर करने पर मजबूर हैं भुइया परिवार

SHARE:

रंका
रंका थाना क्षेत्र के मझिगांवा की नाबालिग सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता को थाना से न्याय नहीं मिलने पर बाल कल्याण समिति गढ़वा, पुलिस अधीक्षक गढ़वा, एसडीपीओ रंका को आवेदन देकर इंसाफ की गुहार लगायी है. 13 साल की पीड़िता ने आवेदन में कहा है कि दो महीने पूर्व 22 मार्च को संध्या करीब 6 बजे दो युवक नसीर अंसारी उर्फ टूनु पिता अतीम अंसारी (मानपुर), असीम अंसारी पिता कबरु मियां (सोनपुरवा) उसके घर आये. और पूछा कि तुम्हारे मम्मी - पापा कहां हैं? मजदूरी कराने के बारे में पूछा. नाबालिग ने कहा कि मां और पिताजी ईंट भठ्ठा में मजदूरी करने आरा (बिहार) गए हैं. इतना कहते के साथ नसीर अंसारी उर्फ टूनु ने नाबालिग को हाथ पकड़ा और खींचने लगा. चिल्लाने पर असीम अंसारी ने मुंह में गमछा ठूंस दिया. और खींचकर उसे बगल के अरहर के खेत में ले गया. यहां दोनों युवकों ने बारी - बारी से दुष्कर्म किया. एक युवक दुष्कर्म करता तो दूसरा युवक किसी को नहीं आने का वाच करता. इस तरह मिलकर दोनों युवकों ने बारी - बारी से दुष्कर्म किया. इसके बाद आरोपियों ने पीड़िता को गला दबाकर किसी को जानकारी देने पर जान मारने की धमकी दिया. और दोनों चले गए. दूसरे दिन सुबह में पीड़िता ने घटना के बारे में अपने मामा मानपुर निवासी लखन भुइयां को फोन पर बताया. तब उसका मामा लखन भुइयां ने पीड़िता भगिनी को लेकर थाना पहुंचा. पीड़िता एवं उसके मामा ने घटना की जानकारी थाना प्रभारी को दिया. इसके बाद थाना के लोग ने आवेदन लिखा. जिसकी कोई प्रति नहीं दी गई. और नहीं आज तक थाना से न्याय मिला. लॉकडाउन में पीड़िता के माता - पिता किसी तरह 15 मई को घर लौटे. पीड़िता ने घटना के बारे में मां को बताया. पुनः मां ने बेटी को 19 मई को थाना आयी. तो थाना प्रभारी ने डांट कर भगा दिया. थाना प्रभारी ने कहा कि मामला रफा - दफा हो गया. इसके बाद पीड़िता की मां ने बाल कल्याण समिति गढ़वा, पुलिस अधीक्षक गढ़वा, एसडीपीओ रंका को आवेदन देकर अपनी बेटी को इंसाफ की गुहार लगायी है.
घर में माता - पिता को नहीं रहने का फायदा उठाकर दुष्कर्म किया - पीड़िता घर में अपनी बूढ़ी नानी एवं 10 साल के छोटा भाई के साथ रहती है. पीड़िता के मामा का घर भी मानपुर है. आरोपी नसीर अंसारी (मानपुर) को पहले से पता था कि पीड़िता के माता - पिता घर पर नहीं हैं. इसी का नाजायज फायदा उठाकर दोनों आरोपी उसके घर पहुंचे. और दुष्कर्म किया.
 श्री बंशीधर नगर : --आपदा राहत दल के सदस्यो ने बुधवार को महदेई या जेल स्थित  क्वारेंटाइन सेंटर में  रह रहे 20 मजदूरों के बीच चना, चूड़ा, गुड और पानी का वितरण किया । इस संबंध में आपदा राहत दल के सदस्यों ने कहा कि  पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है।कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए राष्ट्रव्यापी लॉक डाउन है।ऐसी स्थिति में बाहर कमाने गये मजदूरों के आने का सिलसिला जारी है। बाहर से आये मजदूर भाइयों को खाने पीने में किसी भी तरह की परेशानी का सामना नही करना पड़े ।,इसके लिए आपदा राहत दल भी कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि आपदा राहत दल के सदस्य लगातार विभिन्न गांवो में घूम घूम कर गरीब,असहाय,जरूरतमंद ग्रामीणों के बीच खाद्यान्न का वितरण कर रहे है,ताकि कोई भी व्यक्ति भूखा नही रहे।उन्होंने कहा कि जानकारी मिली की 20 मजदूर क्वॉरेंटाइन सेंटर में अभी भी रह रहे हैं, तो उन लोगों के बीच सुबह में चना, चूड़ा, गुड़ और पानी का बोतल का वितरण कोय गया। मौके पर आपदा राहत दल के अध्यक्ष विकास स्वदेशी, उपाध्यक्ष उज्जवल विश्वकर्मा, अशोक सेठ, कुमार  कनिष्क, भोला कुमार सहित अन्य लोग उपस्थित थे।



श्री बंशीधर नगर: --क्रेडिट एक्सेस ग्रामीण लिमिटेड के  प्रतिनिधियों द्वारा बुधवार को अनुमंडल अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ सुचित्रा कुमारी तथा थाना प्रभारी पंकज  कुमार तिवारी को  एक एक सौ  मास्क तथा सेनेटाइजर सौंपा गया। इस संबंध में क्रेडिट एक्सेस ग्रामीण लिमिटेड के  एरिया मैनेजर अनूप कुमार विश्वकर्मा ने बताया कि हमारे डॉक्टर और पुलिसकर्मी दिन रात सेवा भाव में लगे हैं।  उन्होंने कहा कि डॉक्टर और  पुलिसकर्मी विपरीत परिस्थिति में भी  अपनी जान को जोखिम में डालकर ड्यूटी करते है।इस विकट परिस्थिति में  संदिग्धों को होम क्वारेंटाइन, विद्यालय में बने आइसोलेशन वार्ड तथा जिला आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करवाने में मदद करते रहे हैं। इसके अलावे नागरिकों के हित का ख्याल रखते हुए पुलिसकर्मी ड्यूटी पर मुस्तैद हैं। ऐसे में क्रेडिट एक्सेस ग्रामीण लिमिटेड के तरफ से इनका सम्मान होना चाहिए। इसलिए हमारी संस्था की ओर से डॉक्टर और पुलिसकर्मियों के बीच मास्क व सैनिटाइजर बांटा जा रहा है। मौके पर  ब्रांच मैनेजर पंकज कुमारगिरी, एजाज अंसारी, मनीष कुमार चंद्रवंशी सहित अन्य उपस्थित थे।


श्री बंशीधर नगर:---गरीबो के लिए सरकार द्वारा बनाई गई योजनाओं का लाभ जरूरतमंद लोगों को नही मिल पा रहा है।पदाधिकारियों के लापरवाही के कारण गरीब तबके के लोग सरकारी योजनाओं के लाभ से बंचित रह रहे है।प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के लाभुकों के चयन में भी भारी अनियमितता बरती गई है,जिसके कारण कई जरूरतमंद लोगों को इस योजना का लाभ नही मिल सका है।नगर पंचायत क्षेत्र के वार्ड संख्या 13 के निवासी रामा राम एक छोटे से घर मे अपनी पत्नी व चार बच्चों के साथ रहने को विवश है। घर की स्थिति काफी दयनीय है।छप्पर की जगह प्लास्टिक से ढका है।पत्नी मूक(गूंगी)है।बोल नही पाती है।रामा राम स्वयं निशक्त है,उन्हें कम दिखाई देता है।होटल में काम करके घर परिवार का खर्च चलाते है।आर्थिक स्थिति ठीक नही रहने के कारण वे अपना घर बनाने की बात तो दूर उसकी मरम्मत भी नही करा पा रहे है।वर्षा का पानी प्लास्टिक को छेदकर घरो में टपकता है।जानकारी के अनुसार सरकारी सुबिधा के नाम पर इस परिवार के पास एक राशनकार्ड है ,उसमें भी केवल तीन सदस्यो का नाम ही दर्ज है।कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर राष्ट्रव्यापी लॉक डाउन में होटल बन्द रहने के कारण परिवार के भरण पोषण में भी परेशानी हो रही है।इस सम्बंध में पूछे जाने पर नगर पंचायत अध्यक्ष विजया लक्ष्मी देवी ने बताया कि रामा राम को प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी आवंटित किया गया है।एकरार नामा नही होने के कारण आवास निर्माण का कार्य प्रारम्भ नही हुआ है।



 रंका
चिनिया थाना के चिरका गांव के 25 मजदूर तमिलनाडु के कांचिपुरम में फंसे हैं. मजदूरों ने जिला प्रशासन एवं सीएम से अपने घर वापस लौटने की गुहार लगायी है. मजदूरों ने कहा कि वे लोग कांचिपुरम के वोल्मगई में एक फैक्टरी में काम करते हैं. कोरोना वायरस के प्रकोप को फैलने को लेकर फैक्टरी बंद हो गया है. एवं लॉकडाउन में फंसे हुए हैं. लॉकडाउन में वहां की स्थानीय पुलिस बाहर नहीं निकलने दे रही है. उनके पास राशन भी खत्म हो गया है. उतना पैसे नहीं है कि वे लोग राशन खरीद कर खाए. मजदूरों ने बताया कि किसी तरह लॉकडाउन में दो महीने अपने खर्च से भोजन बनाकर खाये. वे लोग पैदल भी अपना घर वापस लौटना चाह रहे हैं. लेकिन पुलिस प्रशासन बाहर नहीं निकलने दे रही है. मजदूरों ने बताया कि यदि उन्हें अविलंब वापस घर नहीं बुलाया जाता है तो वे लोग भूखे मर जाएंगे.

प्लास्टिक के नीचे गुजर-बसर करने पर मजबूर हैं भुइया परिवार

*श्री बंशीधर नगर प्रतिनिधि गौरव पांडे*       
सोनडीहा पंचायत में कई ऐसे परिवार के लोग हैं जिनका दिन तो कट जाता है, लेकिन बरसात के दौरान आसमान से टपकती बारिश नींद हराम कर देती है। और दूसरी तरफ अभी के समय चीलचिलाती धूप से परेशान है।

श्री बंशीधर नगर:- प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत प्लास्टिक तानकर जीवन गुजारने वाले असहाय गरीब परिजनों को आवास मुहैया कराने के लिए मुहिम चल रही है। इसके बावजूद बहुत से ऐसे परिजन हैं जो प्लास्टिक तानकर जिंदगी गुजार रहे हैं। घर विहीन परिवार के लोग अधिकारियों तथा प्रतिनिधियों के यहां दौड़ लगा कर थक चुके हैं। लेकिन, आज तक इन लोगों को आवास योजना का लाभ सिर्फ इसलिए नहीं मिला। क्योंकि इनके पास न तो पैरवी और न ही प्रखंड कार्यालय में अधिकारियों के समक्ष खुद को असहाय साबित करने की क्षमता है।
 एक ऐसे ही सगमा प्रखंड के सोनडीहा पंचायत क्षेत्र के पुतुर गांव निवासी जागरणनाथ भुइयाँ के  लड़के चार होते है और चारो लड़के के बाल बचे मिला कर दस से उपर सदस्य होते है,और चारो लड़के अपने बाल बच्चों का भरण पोषण  करने के लिए बाहर में ईटा भट्ठा पर मजदूरी कर के अपने परिवार को  चलाया करते है।
बताते हुए चंदा देवी पति विजय भुइया के पत्नी ने बताई की  हम सभी लोग प्लास्टिक के नीचे गुजर बसर कर है पिछले दो वर्षों से कई बार पंचायत के मुखिया और प्रखंड स्तर तक दौड़ लगाकर थक चुके हैं, ताकि अपना घर हो सके लेकिन, हमलोगों को आज तक आश्वासनों के सिवाय कुछ नहीं मिला। चंदा देवी और झरि भुइयाँ ने बताया कि  प्रधानमंत्री आवास के लिए हमलोगों पिछले दो वर्षो से सोनडीहा पंचायत के मुखिया सरिता देवी और मुखिया प्रतिनधि दसरथ बैठा से बोल कर थक चुकी हूँ, चंदा देवी न बताया कि जिस हालत में हम सभी परिवार के लोग रह रहे है हर समय चिंता के विषय बना होता है कि बारिश न आए और कोई दुर्घटना न हो जाये। दूसरी तरह चीलचिलाती धूप में दोपहर में प्लास्टिक के ताना हुआ प्लास्टि जब गर्म होता है तो दिन में रहना मुशकिल हो जाता है और उन्होंने ने बताया कि प्लास्टिक को गर्म होने से मेरे छोटे छोटे बच्चे को कई बार तबियत खराब हो चुका  है।
सोनडीहा पंचायत के मुखिया सरिता देवी और मुखिया पति दशरथ बैठा समेत पंचायत स्वयंसेवक पर आरोप लगाते हुए बताया कि ये सब से  मिली भगत से गांव के लोगो को जिसका पहले से प्रधानमंत्री आवास मिल चुका है उनलोगों को भी दुबरा प्रधानमंत्री आवास के सूची में नाम शामिल है,और उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री आवास जिसका मिटी का मकान हो उसे ही दिया जाना है लेकिन मुखिया के मिली भगत से जिसका पहले से भी पक्का का मकान है और जिसका दो पहिया चार पहिया वाहन है वैसे लोगों को प्रधानमंत्री  दिया जा रहा है जिसका पहले प्रधानमंत्री आवास मिल चुका है उसी घर मे तीन सदस्य चार सदस्य का नाम पुनः सूची में आ रहा है और जिस गरीब के पास कोई सिफारिश है न कोई लगाव है उसका कोई सुनवाई नहीं किया जा रहा है हम गरीब लोग पीछे के पीछे ही रह जा रहे है।
चंदा देवी ने प्रभात खबर अखबार से अपील करते हुए कहा कि  प्रखण्ड पदाधिकारी समेत वरिये पदाधिकारी जांच कर जो ब्यक्ति आवास लायक हों उसे ही  प्रधानमंत्री आवास को दिया जाए और उन्होंने कहा कि मेरे मकान को जांच कर के तत्काल प्रधानमंत्री आवास दिलाने के काम करे और हम सभी लोग सुरक्षित रह सके।                           प्रखंड विकास पदाधिकारी रंजीत कुमार सिन्हा ने कहा कि यह मामला डेढ़ साल पहले का है इस मामले की गहन जांच की जाएगी इस मामले की जो भी आरोपी होंगे उन्हें दंडित किया जाएगा।  सोनडीहा पंचायत के मुखिया सुनीता देवी से पूछे जाने पर पता चला कि सरकारी कर्मियों  स्वयंसेवक और आवास कॉर्डिनेटर की गलती से गृह विहीन लोगों को 2 साल होने का चलें अभी तक उन लोगों का आवास नहीं मिल पाया।



2,  जब्त किया जा रहा सुरेन्द्र शर्मा का आरा मसिंह

वन विभाग द्वारा मझिआंव में दो अवैध आरा मशीन जब्त

18मई को प्रभात खबर में छपी खबर का असर

मझिआंव: मझिआंव थाना क्षेत्र के बिडंडा गांव में वन विभाग द्वारा दो अलग अलग संचालित अवैध आरा मशीन संचालकों के आवास पर छापेमारी की गई.यह छापेमारी 18मई को प्रभात खबर में प्रकाशित खबर के आलोक में की गई.अलग अलग अलग की गई छापेमारी में नंदकिशोर शर्मा एवं सुरेन्द्र शर्मा का आरा मशीन,दो इंजन, दो ब्लेड, टूल्स एवं शीशम,गमहार सहित अन्य कई प्रकार की कीमती लकड़ियां जब्त की गई.साथ ही लकड़ी का चीरा हुआ पटरा भी जब्त किया गया.छापेमारी में डीएफओ अरबिन्द कुमार गुप्ता, रेंजर अजित सिंह एवं मनोज कुमार सिंह सहित अन्य वन कर्मी व मझिआंव थाना के प्रशिक्षु एएसआई नवीन कुमार एवं पुलिस बल शामिल थे.बताया जाता है कि पिछले एक वर्ष से बिडंडा गांव में अवैध आरा मशीन चलाया जा रहा था,जिसके कारण आस पास के जंगलों को भारी क्षति पहुंचाई जा रही थी. वन विभाग की इस कार्रवाई से जहां लकड़ी माफियाओं में हड़कंप मचा हुआ है वहीं दूसरी ओर बुद्धिजीवियों एवं पर्यावरण संरक्षण से जुड़े लोगों में खुशी देखी जा रही है.वन विभाग की इस बड़ी कार्रवाई का असर बरडीहा प्रखंड में भी देखा जा रहा है.मझिआंव प्रखंड में आरा मशीन जब्त होते ही बरडीहा प्रखंड में संचालित अन्य कई आरा मशीन संचालकों ने अपने अपने आरा मशीनों को खोलकर रख दिया और लकड़ी के बोटे छुपा दिए गए.इधर वन विभाग द्वारा दोनों अवैध आरा मशीन संचालकों पर वन अधिनियम के तहत कार्रवाई करने की प्रक्रिया जार


आज गढ़वा जिले के एसपी खोत्रे  श्रीकांत राव, डीएसपी बहामन टूटी एवं गढ़वा थाना  थाना प्रभारी रामोद कुमार सिंह ने  दानरो नदी में लगने वाले सब्जी मार्केट का निरीक्षण किया कई। निरीक्षण किया। आवश्यक दिशा निर्देश दिए। जिसमे नदी की साफ सफाई शोसल डिस्टेंस का ख्याल रखने एंव नदी में  दो दो गज की फासले पर  आज से ही चुने से मार्किर्ग कर बैठने का निर्देश दिया। तत्काल तुतंत नगर परिषद अध्यक्ष पिंकी केशरी के निर्देश पर जेसीबी मशीन से पूरे  दानरो नदी की सफाई शुरू कर दिया गया ।जिसमें की सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का निर्देश दिया गया जिसे कि आज नगर परिषद गढ़वा के द्वारा चुना गिरा कर दो दो गज की दूरी पर मार्किंग घेरा बनाया गया।



गढ़वा : जीएन कान्वेंट व जीएन इंटरनेशनल स्कूल  में ऑनलाइन पढ़ाई  जारी
स्थानीय जीएन कान्वेंट स्कूल गढ़वा में कोविड-19 के कारण संकट के विस्तार एवम विकरालता को मद्देनजर रखते हुए लॉक-डाउन के शुरुआत से ही ऑनलाइन पढ़ाई की सुचारू व्यवस्था की गई है। जिसके अंतर्गत सभी विषयों से संबंधित शिक्षकों द्वारा अध्यापन का कार्य जारी है। ऑनलाइन एजुकेशन को सुचारू ढंग से क्रियानवित करने में हमारे कोऑर्डिनेटर आसिफ अली (आई. टी) एवमं सह कोऑर्डिनेटर राजीव विश्वास का विशेष रूप से सरहानीय योगदान है। इस ऑनलाइन व्यवस्था से बच्चे काफी उत्साहित है तथा कक्षा के सभी विषयों का लाभ ले रहे हैं। विद्यालय के इस व्यवस्था से अभिभावक गण भी संतुष्ट है। ऑनलाइन विचारों के आदान-प्रदान के क्रम में अभिभावकों ने इस व्यवस्था के प्रति संतोष व्यक्त किया एवम कहा कि ऐसे शिक्षक धन्यवाद के पात्र है जिन्होंने संकट के इस घड़ी में भी अपनी कर्तव्य एवम जिम्मेवारी बड़ी ही दिलेरी के साथ निभाए है। विद्यालय के निदेशक मदन प्रसाद केशरी ने अभिभावकों से अपील करते हुए कहा कि वे अपने बच्चों के लिए पुस्तक खरीद ले और उन्हें घर पर पढ़ने का माहौल बनाये तथा आगे के दिनों में स्कूल खुलने के पश्चात विद्यार्थियों पर पढ़ाई का अधिक बोझ न पड़े इसके लिए वर्तमान में बच्चों को पठन-पाठन पर विशेष ध्यान दें। जिला प्रशासन से अनुमति मिलने के बाद से ही किताब-कॉपी उपलब्ध है। अभिभावक प्रातः 09:00 बजे से अपराह्न 03:00 बजे तक पाठ्य सामग्री सोशल डिस्टनसिंग बनाकर प्राप्त कर सकते है। दस साल से कम उम्र वाले बच्चों को अपने साथ न लाएं। झारखंड सरकार द्वारा आर. टी. ई कानून के अंतर्गत कमजोर एवम अभिवंचित वर्ग के बच्चों का नामंकन वर्ग प्रथम में करा सकते हैं वही L.K.G से कक्षा नवम तक के खाली स्थानों पर ऑनलाइन नामंकन करा सकते है। संपर्क हेतु मोबाइल नंबर- 9308978449, 9934209777
वहीं शिक्षा संप्रेषण में प्राचार्य बसंत ठाकुर, शिक्षक विनय दुबे, उदय प्रकाश, मनोज कुमार, नीरा शर्मा, खुर्शीद आलम, पीयूष पांडेय, नरेंद्र सिन्हा एवम संतोष प्रसाद की भूमिका प्रशंसनीय है।



बड़गड़ । गढ़वा । रंका अनुमंडल पदाधिकारी संजय पांडे ने बड़गड़ स्थित क्वारेंटाईन सेंटर का  निरीक्षण किया। इस दौरान बड़गड़ के महुआटीकर गांव स्थित कनहर नदी के किनारे बनें प्रखंड कार्यालय के नए भवन में रह रहे देश के विभिन्न राज्यों से आये प्रखंड के स्कूल 107 प्रवासी मजदूरों के स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने क्वारेंटाईन सेन्टर में रह रहे लोगों को प्रखंड प्रशासन द्वारा खानें पीने सहित अन्य प्रकार की दि जा रही सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। जिस पर अनुमंडल पदाधिकारी ने संतोष व्यक्त करते हुए बीडीओ विपिन कुमार भारती को निर्देश दिया की क्वारेंटाईन सेन्टर के प्रत्येक रूम में दो - दो घड़ा पानी रखने एवं सेन्टर में रहने वाले प्रत्येक लोगों को तत्काल दो - दो साबुन उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने सेन्टर में रहने वाले मजदूरों को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी साफ सफाई पर विशेष ध्यान देंगे।सभी लोग एक दूसरे से दूरी बना कर रहेंगे तथा माश्क का प्रयोग जरूर करें साथ हीं हाथों को बार - बार धोते रहेंगे। इस दौरान भंडरिया बीडीओ सुलेमान मुंडारी, क्वॉरेंटाइन सेन्टर प्रभारी प्रभु टोप्पो आदि सहित अन्य लोग उपस्थित थे।



रमना
एन एच 75 मुख्य सड़क पर कई जगहों पर जर्जर स्थिति हो जाने के कारण दुर्घटनाओं में काफी इजाफा हो रहा है.मालूम हो कि गढ़वा श्री बंशीधर सड़क पर कई जगह एक फिट से ज्यादा गढ़ा हो जाने के कारण प्रतिदिन दुर्घटना की आम बात हो गई है.खबर के मुताबिक गढ़वा के पचपड़वा निवासी ने अपने मोटरसाइकिल से दिल्ली से चलकर अपने घर जा रहा था जिसके क्रम में मंगलवार की शाम सात बजे गुलहरी बांध स्थित मुख्य सड़क में बने गढ़े में अनियंत्रित होकर गिर गये,जिसमे बाइक सवार के आलवे उसकी पत्नी बुरी तरह घायल हो गई.जिसका स्थानीय लोगो के मदद से निजी उपचार के बाद गढ़वा सदर अस्पताल में रेफर कर दिया गया.बताया कि पांच दिन पूर्व अपने आधा दर्जन मोटरसाइकिल साथी के साथ अपने अपने घर को लौट रहे थे.वही दूसरी घटना इसी स्थान पर रमना बगौन्धा निवासी फागु राम के 22 वर्षीय पुत्र बाजार से दवा लेके वापस घर आने के क्रम में अनियंत्रित होकर गिर गया.जिसे स्थानीय लोगो की मदद से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के बाद गढ़वा रेफर किया गया.मालूम हो कि एक दिन पूर्व मडवनिया के जुडवनिया मोड़ के समीप मोटरसाइकिल दुर्घटना में तीन लोग घायल हो गये थे.



 प्रतिनिधि गोदरमाना .
छत्तीसगढ़ की ओर से एनएच 343 गढ़वा अंबिकापुर मार्ग के माध्यम से झारखंड में मजदूरों का प्रवेश जारी है ,
जिसके चलते  झारखंड छत्तीसगढ़ सीमा पर गोदरमाना में तैनात पुलिसकर्मियों की परेशानी बढ़ गई है  ,बताते चले कि लाक  डाउन लागू होते ही झारखंड छत्तीसगढ़ बॉर्डर के गोदरमाना में अंतरराज्यीय चेकपोस्ट बनाया गया गया है ,एवं झारखंड में प्रवेश करने वाले मजदूरों या अन्य किसी लोगों को जांच के बाद ही झारखंड में प्रवेश दिया जा रहा था ,परंतु मजदूरों का जत्था बड़ी मात्रा में झारखंड में प्रवेश कर रही है जिसके चलते सोशल डिस्टेंसिंग या स्वास्थ्य का जांच  नहीं हो पा रही है,  झारखंड सरकार के आदेश के आलोक में झारखंड बॉर्डर से ही बस या अन्य किसी वाहन से मजदूरों को उनके गंतव्य तक रवाना किया जा रहा है .
कल  12:00 बजे से आज दोपहर 12:00 बजे तक यानी 24 घंटे के अंदर 2000 से भी अधिक श्रमिक झारखंड में प्रवेश किए हैं यह सभी मजदूर कोई मुंबई से रांची तो कोई मुंबई से बिहार तो कोई मुंबई से गिरीडीह इसी तरह कोई रायपुर से औरंगाबाद तो कोई रायपुर से गढ़वा तो कोई तेलंगाना से बिहार तो कोई हैदराबाद से बक्सर तो कोई सूरत से डालटेनगंज जाने वाले सैकड़ों मजदूर इसी मार्ग से होकर प्रतिदिन गुजर रहे हैं 
24 घंटे के अंतराल में 2600 मजदूर इस मार्ग से झारखंड में प्रवेश कर चुके हैं। इन मजदूरों में 1400 से भी अधिक मजदूर झारखंड के हैं इन मजदूरों में कोई गढ़वा को छतरपुर कोई डालटेनगंज कोई हरिहरग कोई पूर्वी सिंहभूम तो कोई देवघर सहित कई इलाकों के मजदूर शामिल हैं इसी तरह बिहार जाने वाले लगभग 12 सौव से भी अधिक मजदूर बिहार जाने वाले थे ,जो मुंबई सूरत रायपुर महाराष्ट्र तेलंगाना आदि स्थानों से लगातार मजदूरों का आना जारी है।
मजदूरों से पूछने पर बताया अभी भी हमारे कई साथी पीछे हैं जो बसों के इंतजार में रह चुके हैं हम लोग कोई साधन नहीं मिलने पर पैदल ही तेलंगाना से निकल चुके थे। किंतु रास्ते में ट्रक के सहारे हम लोग आते रहे, लोग छूटती रहे और हम लोग ट्रकों के सहारे आगे बढ़ते रहें और 3 दिन के बाद हम लोग झारखंड राज्य की सीमा में पहुंचे हैं। हम लोगों को रास्ते में ना कोई खाने की व्यवस्था थी ना कोई पानी पीने की, हम लोग रास्ते में कहीं केला तो कहीं चूड़ा गुड़ इत्यादि खाकर दिन भर चलते रहे। हम लोग किसी तरह अपने घर पहुंच जाएं।
इसी तरह महाराष्ट्र से आ रहे 29 लोगों का जत्था ने बताया कि हम लोग वाहनों के चक्कर में 3 दिन से महाराष्ट्र के सड़कों पर यहां से वहां भटकते रहे कोई वाहन नहीं मिले इसके बाद हम लोगों ने पैदल ही वहां से निकल चुके आगे बढ़ने पर हम लोगों ने अपने पैसे देकर ट्रक से नागपुर पहुंचे ,नागपुर पहुंचने के बाद वहां से ट्रक के द्वारा ही बिलासपुर पहुंचा बिलासपुर पहुंचने के बाद छत्तीसगढ़ की सरकार ने वाहनों की व्यवस्था की इसके बाद इन वाहनों का कोई किराया शुल्क नहीं देना पड़ा ।अभी छत्तीसगढ़ झारखंड के सीमा पर रामानुजंन इलाका में  छोड़ दिया गया। अब हमें यहां से पूर्वी सिंहभूम के चक्रधरपुर जाना है।
इसी तरह कई लोगों ने अपना दुख बयां किया इन लोगों ने बताया कि हम लोग ना जाने किस जन्म में कौन सा पाप किया था जो हम सब गरीबों को भुगतना पड़ रहा है


भवनाथपुर।प्रखंड क्षेत्र में विद्युत विभाग द्वारा भारी कटौती किये जाने के कारण लॉकडाउन के दौरान भीषण गर्मी में घर के अंदर लोगो का जीना मुहाल हो गया है वहीं घरेलू से लेकर व्यावसायिक कामकाज प्रभावित होने के साथ शिक्षा विभाग द्वारा चलाई जा रही ऑनलाइन शिक्षण पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है।बिजली संकट का आलम यह है कि 24 घंटे के सापेक्ष महज घण्टा दो घण्टा ही बिजली आपूर्ति की जा रही है जिससे क्षेत्रवासियों में आक्रोश की लहर है।
क्षेत्र में अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाने से उमस और तेज धूप के कारण लोगों की तबीयत भी खराब होने लगी है। ऊपर से बिजली आपूर्ति नाममात्र के लिये होने के कारण लोग अंधेरे में रहने के साथ पानी की कमी के कारण लोगों की दिनचर्या भी बुरी तरह से प्रभावित हो रही है।
*ऑनलाइन शिक्षण पर लगा ग्रहण*
कोरोना महामारी के कारण देशव्यापी लॉकडाउन में विद्यालय बन्द होने के कारण शिक्षा विभाग द्वारा व्हाट्सऐप ग्रुप के माध्यम से बच्चो तक डिजिटल कंटेंट पंहुचाने का प्रयास बिजली की कमी के कारण निरर्थक साबित हो रहा है।बिजली की स्थिति इस कदर खराब हो चुकी है कि फ़ोन से बामुश्किल वार्तालाप हो रही है फिर डिजिटल कंटेंट को बच्चे ऑनलाइन क्या देख पाएंगे।सुदूरवर्ती गांव में टीवी की कमी ऊपर से बिजली संकट ने दूरदर्शन द्वारा डीजीसाथ के साथ मिल शिक्षण के क्षेत्र में नया आयाम गढ़ने का प्रयास भी धूल चाटती दिख रही है।
*क्या कहते हैं कनीय अभियंता*
इस संबंध में विद्युत कनीय अभियंता महादेव महतो ने बताया कि भवनाथपुर क्षेत्र में 28 मेगावाट की जगह महज 8 मेगावाट बिजली आपूर्ति की जा रही है।अनवरत रूप से बिजली आपूर्ति नही किया जाना भी बिजली कटौती का मुख्य कारक है।



 नाबालिक लड़की को बेचने वाली महिला गिरफ्तार, जेल



डांस कार्यक्रम के दौरान बकाये भुगतान की मांग करने पर आरोपी महिला ने नाबालिक को गिरोह के हाथों बेचा


कानपुर में बेची गयी हरहे गांव की नाबालिक लड़की का शोषण किये जाने के साथ ही उसे प्रताड़ित किया जाता था


प्रतिनिधि रमकंडा

रमकंडा पुलिस ने नाबालिक लड़की को बेचने वाले  एक गिरोह का उदभेदन करते हुये महिला आरोपी सदस्य रेशमा बीबी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. वहीं इस मामले में शामिल अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिये छापामारी अभियान चला रही है. जानकारी के अनुसार रमकंडा थाना क्षेत्र के हरहे गांव की एक नाबालिग लड़की को बहला फुसलाकर रंका थाना क्षेत्र के बोड़ी गांव निवासी रुबिला उर्फ रेशमा बीबी ने उत्तरप्रदेश के कानपुर जिले के जालौन शहर में बेंच दिया था. जहां उसे एक घर में रखा गया था. वहीं उसका शोषण किये जाने के साथ ही उसे प्रताड़ित किया जाता था. प्रताड़ना से परेशान होकर लड़की भागने का प्रयास करती थी. लेकिन वह भागने में सफल नही हो पा रही थी. इसके पूर्व आरोपी महिला आर्केस्ट्रा कार्यक्रम में डांसर का काम करती थी. वर्ष 2019 में आरोपी ने उक्त नाबालिक लड़की को बहला फुसलाकर डांस प्रोग्राम में शामिल करा लिया था. इस दौरान  मोबाइल के माध्यम से आर्केस्ट्रा कार्यक्रम की जानकारी देकर कार्यक्रम में बुलाया जाता था. इसी बीच उसे बकाया का भुगतान नही दिया जाने लगा. जब लड़की ने आरोपी महिला से बकाया भुगतान की मांग की तो उसने एक दूसरे व्यक्ति द्वारा बकाया दिये जाने की बात कहकर उसे बेच दिया.  महीनों लड़की के घर नही पहुंचने के बाद उसकी माँ ने थाना में बहला फुसलाकर लड़की को भगा ले जाने का मामला दर्ज कराया था. मामला दर्ज होते ही रंका डीएसपी मनोज कुमार महतो के नेतृत्व में  मामले की जांच के दौरान पूरे मामले का खुलासा हुआ. इसी बीच उक्त लड़की किसी तरह भागकर अपने गांव पहुंची. पूरे गिरोह का उदभेदन करने के बाद पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. थाना प्रभारी त्रिलोचन तामसोय ने बताया कि लड़की को बेचने के मामले में अन्य आरोपियों की पहचान हो चुकी है. इनकी गिरफ्तारी के लिये छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है. जल्द ही अन्य लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जायेगा



सरस्वती शिशु विद्या मंदिर भवनाथपुर नगरी में भैया बहनों की ऑनलाइन परीक्षा का निर्णय

भवनाथपुर। विद्या विकास समिति झारखंड के  प्रदेश सचिव मुकेश नंदन ,प्रदेश का मंत्री  ज्वाला तिवारी ,पलामू विभाग के विभाग निरीक्षक  विवेक नयन पांडे ने  ज़ूम मीटिंग एप्स के माध्यम से सरस्वती शिशु विद्या मंदिर भवनाथपुर  नगरी गढ़वा के प्रबंध कारिणी समिति के साथ बैठक की।     बैठक का शुभारंभ भवनाथपुर नगरी के प्रधानाचार्य  ब्रजेश कुमार सिंह ने ओंकार ध्वनि व गायत्री मंत्र के साथ किया  तत्पश्चात ऑनलाइन बैठक में उपस्थित पदाधिकारियों का परिचय व विद्यालय का वृत्त प्रस्तुत किया गया । बैठक में प्रदेश सचिव मुकेश नंदन ने कहा इस विषम परिस्थिति में लोगों से संपर्क व सहायता करना हमारा परम लक्ष्य  है , उन्होंने भैया बहनों के विकास के लिए लॉक डाउन में योग  पर बल दिया और गूगल फॉर्म ऐप के माध्यम से विद्यालय को ऑनलाइन परीक्षा का आयोजन कराना है । इसकी जानकारी दी सभी अभिभावकों से दूरभाष से भी संपर्क करते रहना है। स्थानीय समिति के लोगों को भी कहा दैनिक लोगों से संपर्क करें, सबो की व्यक्तिगत दिनचर्या पर भी बल दिया । आचार्यों की ऑनलाइन पढ़ाई क्षमता वृद्धि के लिए विभाग केंद्र पर प्रशिक्षण का आयोजन कराना चाहिए । इससे ऑनलाइन कक्षा प्रभावी हो सके । प्रदेश सह मंत्री ज्वाला तिवारी ने कहा इस वैश्विक महामारी से अपना अस्तित्व बचाए रखना है , लोकसंग्रह  एवं लोक संस्कार का काम करते रहना है अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ानी है,   बैठक में विद्यालय के प्रधानाचार्य ब्रजेश  कुमार सिंह ने विद्यालय में हो रहे ऑनलाइन शैक्षणिक गतिविधियों विद्यालय के आचार्यो द्वारा व्हाट्सएप में कक्षा व खंड के अनुसार कक्षा उदय से दशम तक में स्वयं से आचार्य अपना पढ़ाने का वीडियो दे रहे है यूट्यूब में भी आचार्य अपना वीडियो अपलोड कर रहे है और ग्रुप में लिंक शेयर कर रहे है , प्रत्येक दिन भैया बहन की उपस्तिथि ऑनलाइन ली जा रही है इसकी जानकारी से प्रदेश सचिव को अवगत कराया  , इस मौके पर स्थानीय समिति के सचिव राजमणि चौबे ,कोषाध्यक्ष अरविंद प्रताप सिंह  सेंगर, पूजनीय    सीता राम पाठक,                      शंकर सुवन     अखिलेश पाठक आदि  अधिकारीगण उपस्थित थे बैठक का समापन शांति मंत्र के साथ संपन्न हुआ  ।



श्री बंशीधर नगर: ---कोरोना वायरस जैसी वैश्विक महामारी को मात देने के लिए पूरे भारत में लॉक डाउन है, लोग घर में रहकर इस बीमारी से लड़ रहे हैं। वही पुलिस प्रशासन, स्वास्थ्य कर्मी मीडियाकर्मी जैसे तमाम जरूरी सेवाओं से जुड़े कर्मी जान जोखिम में डालकर अपने दायित्व का बखूबी निर्वहन कर रहे हैं।उक्त बातें  भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही ने बुधवार को सभी कोरोना वारियर्स को गमछा ओढ़ाकर सम्मानित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि अपनी जान की परवाह न करके दिन रात एक कर हमारे लिए काम कर रहे है, उनका सम्मान करना बहुत जरूरी है ।हम तो गमछा देकर सम्मान कर रहे हैं लेकिन वह इससे भी बड़े सम्मान के योग्य हैं । उन्होंने कहा कि इस कोरोना जैसी महामारी से जीतना है तो मेहनत से काम करना होगा। उन्होंने कहा कि इस महामारी से निपटने के लिए 24 घंटे ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर ,नर्स ,पुलिसकर्मी और मीडिया कर्मी अपनी जान की परवाह किए बगैर हम लोगों की सुरक्षा में लगे हुए हैं उनके जज्बे को हम सलाम करते हैं। उन्होंने कहा कि एक तरफ डॉक्टर को रोना संक्रमित मरीजों की इलाज  में लगे हुए हैं, वहीं दूसरी तरफ पुलिसकर्मी सब को घरों में रहने की अपील कर रही हैं ताकि को रोना से जंग जीता जा सके। पुलिसकर्मी  अपनी ड्यूटी  ईमानदारी से निभा रही हैं । उन्होंने कहा कि मीडिया कर्मी अपनी जान की परवाह किए बगैर ही कोरोना से संबंधित पल पल की खबर   प्रकाशित करते हुए  दुनिया को सचेत करने में लगे हैं ताकि  कोरोना का जंग जीता जा सके।मौके पर अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी अजीत कुमार ,थाना प्रभारी पंकज तिवारी ,उपाधीक्षकडॉ0 सुचित्रा कुमारी ,कनीय अभियंता राजीव कुमार सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।




 *डुमरसोता पहुंचे विधायक भानू,सोन नदी में डूबने से हुई 7 युवकों की मौत पर जताया दुःख*

बुधवार की सुबह कांडी प्रखंड के डुमरसोता गांव पहुंचे भवनाथपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक भानू प्रताप शाही ने मृतक के परिजनों से मिलकर दुःख प्रकट किया। श्री शाही ने सभी मृतकों के घर जाकर शोक संतप्त परिवारों को ढांढस बंधाया।
कहा कि 2010ई.में केतार प्रखंड के भगवान घाटी में ट्रक दुर्घटना में 31 लोगों की मौत के बाद डुमरसोता की घटना दूसरी बड़ी घटना है जिससे मैं काफी मर्माहत हूं। घटना की सूचना के बाद मैं तुरंत गढ़वा डीसी व आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव अमिताभ कौशल से बात कर मुआवजा दिलाने की मांग की थी। जो 72 घंटे के अंदर हीं परिजनों तक पहुंच गया। कहा कि विधानसभा सत्र शुरू होते ही सोन नदी पर तटबंध सहित सोन तटीय इलाकों में रहने वाले लोगों के सुरक्षा का मुद्दा उठाउंगा। मौके पर भाजपा नेता अनिल चौबे, हरिहरपुर मंडल के महामंत्री विनोद दुबे, मीडिया प्रभारी दयाशंकर, कांडी पंचायत मुखिया विनोद प्रसाद,डुमरसोता पंचायत मुखिया प्रतिनिधि रामाकांत मेहता, विधायक प्रतिनिधि बबलू सिंह, संतोष कुमार सिंह व निर्मल विश्वकर्मा सहित कई लोग मौजूद थे।



: धुरकी गढ़वा उपायुक्त के निर्देशानुसार  धुरकी बिडीओ रंजीत कुमार सिन्हा ने प्रखंड के सभी आठों पंचायत के मुखिया को   यह नर्देश दिया है कि पंचायत के सभी सरकारी भवन गैर सरकारी भवन जहां लोगों का जुड़ा हो उसे सैनिटाइजेशन कराएं इसी के आलोक में बुधवार को धुरकी  पंचायत के मुखिया प्रभादेवी के द्वारा पंचायत के सभी सरकारी गैर सरकारी भवनों को सैनिटाइजेशन कराया। ताकि क़ोरोना  के संक्रमण से बचाव किया जा सके। बीडीओ ने बताया कि प्रखंड मे  लोगों को संक्रमण ना हो इसी को ध्यान में रखते हुए सैनिटाईजेशन किया जा रहा है। ताकि ग्रामीण व बाहर से आने वाले लोग सुरक्षित रहें। उन्होंने कहा कि सैनिटाइजेशन सरकारी संस्था के अलावे अन्य संस्थानों पर पर भी सैनिटाइजेशन किया जाना है। जिससे   कोरोना के संक्रमण से लोग सुरक्षित रह सकें।


ताकि जहां लोग सामाजिक दूरी बनाकर आते जाते हों वैसे स्थानों  पर भी   सैनिटाइजेशन करने का प्रावधान है।



श्री बंशीधर नगर :- नगर उंटारी प्रखंड अंतर्गत कोलझिकी पंचायत में रोजगार सेवक एवं स्वयंसेवक के पति के द्वारा जॉब कार्ड बनाने एवं कार्ड में नाम जोड़ने के लिये ग्रामीणों से एक-एक सौ रुपये की अवैध वसूली किये जाने का मामला प्रकाश में आया है। यहां बताते चलें कि सरकार के द्वारा कोरोना महामारी में मजदूरों को काम देने को लेकर जॉब कार्ड का निबंधन कराया जा रहा है। कार्ड बनाने की जिम्मेवारी रोजगार सेवक एवं स्वयंसेवक को दी गई है। किंतु रोजगार सेवक एवं स्वयंसेवक कार्ड बनाने के नाम पर अवैध वसूली करने में जुट गये हैं।
ग्रामीण लालबिहारी भुईयां, शेषमण साह, श्यामलाल प्रजापति, दौलतिया देवी, उदय चंद्रवंशी, शिवनारायण प्रजापति, अनिता देवी, सौरव कुमार, उपेंद्र प्रजापति, देववंश प्रजापति समेत कई ग्रामीणों ने बताया कि पिछले शनिवार एवं रविवार को रोजगार सेवक धर्मेन्द्र कुमार एवं स्वयंसेवक रेखा देवी के पति संतोष कुमार प्रजापति के द्वारा जॉब कार्ड बनाने एवं कार्ड में नाम जोड़ने के लिये एक-एक सौ रुपये ली गई है। साथ ही पैसा नहीं देने वाले लोगों का रोजगार सेवक एवं स्वयंसेवक के पति के द्वारा कार्ड से नाम काटने की धमकी दी गई है। उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व रोजगार सेवक के द्वारा कोइन्दी गांव में भी कार्ड बनाने के नाम पर ग्रामीणों से तीन हजार रुपये की अवैध वसूली की गई थी।  प्रखंड के उप प्रमुख रामप्रवेश प्रजापति को इसकी सूचना मिलने पर उन्होंने तत्काल रोजगार सेवक से ग्रामीणों का पैसा वापस कराया था। किंतु रोजगार सेवक एवं स्वयंसेवक के द्वारा पुनः कोलझिकी गांव में भी ग्रामीणों से कार्ड बनाने के नाम पर एक-एक सौ रुपये की अवैध वसूली कर ली गई है। उधर इस संबंध में पूछने पर रोजगार सेवक धर्मेन्द्र कुमार ने ग्रामीणों के आरोप को निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि कार्ड बनाने के नाम पर किसी से एक रुपये भी नहीं लिया गया है। फोटो कॉपी के नाम पर स्वयंसेवक के द्वारा पैसा लिया गया है।

प्रखंड विकास पदाधिकारी अमित कुमार ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। अगर रोजगार सेवक एवं स्वयंसेवक के पति के द्वारा जॉब कार्ड बनाने के नाम पर अवैध वसूली की गई है तो मामले की जांच कर दोषी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी।



 गढ़वा : प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी मंत्री मिथिलेश ठाकुर के सौजन्य से झारखंड मुक्ति मोर्चा जिला कमिटी के द्वारा रंका मोड़ पर रमजान पर्व को लेकर  के  मुस्लिम धर्मावलंबियों के लिए सेवई, मेवा, चीनी एवं दुध की थैली भरा वाहन रवाना किया गया. उक्त उपहार सभी पंचायतों में पंचायत अध्यक्ष के माध्यम से जरूरतमंद मुस्लिम धर्मावलंबियों को उक्त थैला प्रदान किया जाएगा. ताकि किसी भी रोजेदार परिवार को ईद मनाने में कोई परेशानी ना हो. मौके पर केंद्रीय समिति सदस्य परेश तिवारी ने कहा कि सभी त्योहारों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने वाले मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने हर समुदाय के लोगों के लिए हमेशा तत्परता दिखाई है। उनका हमेशा प्रयास रहा है कि पर्व-त्योहारों में सिर्फ जनप्रतिनिधि नहीं बल्कि घर का बेटा होने के नाते खुशियों को बांटा जाएं। मंत्री ने रोजेदारों से अपील भी किया है कि वह दुआ करें हमारा प्रदेश बीमारी से मुक्त हो और पूर्व की तरह क्षेत्र में अमन शांति और खुशियां बहाल हो. इस कार्य में महत्वपूर्ण योगदान सह सचिव मासूम रजा ने दिया.मौके पर जिलाध्यक्ष तनवीर आलम, जिला सचिव मनोज ठाकुर, कोषाध्यक्ष हेमंत गुप्ता, प्रवक्ता धीरज दुबे, जिला उपाध्यक्ष डॉ असजद अंसारी, जिला उपाध्यक्ष आशुतोष पांडे, गंभीर बीमारी योजना के प्रतिनिधि कंचन साहू, नीलू खान, अरमान सिद्दकी, कामेश्वर सिंह, अभिषेक धर दुबे, गुंजन धर दुबे, राजा सिंह, विवेक सिंह, दिलीप गुप्ता, धीरज ठाकुर, इरफान अंसारी, सदाब खान आदि मौजूद थ



 केतार :
 केतार बाजार स्थित किराना दुकान व्यवसाई यमुना कमलापुरी के तरफ से बाहर से अपने गांव वापस लौटे मजदूरों को जलपान कराया गया. उक्त प्रवासी मजदूर गुजरात, अहमदाबाद, भरूच, आदि जगह से महीनों बाद कोरोनावायरस के कारण अपने- अपने घर वापस लौट रहे थे. इसी क्रम में केतार बाजार पहुंचते ही कर्पूरी गेट स्थित किराना व्यवसाई यमुना कमलापुरी ने दर्जनों मजदूरों को बिस्कुट, नींबू -पानी शरबत आदि पिलाकर मजदूरों का स्वागत किया.




 रंका
रंका के मजदूर राहुल भुइयां (22) की मौत मुंबई में कोरोना से हो गई. वह रंकाखुर्द निवासी द्वारिका भुइयां का पुत्र है. राहुल का इलाज एम्स में चल रहा था. राहुल के पिता द्वारिका भुइयां ने बताया कि गांव से 6 युवक मुंबई के अहमद अली नगर में सरिया सेटरिंग में काम करने थे. राहुल को बिमार पड़ने पर उसे एम्स में भर्ती कराया गया. साथ में राहुल के पांच साथी भी गये. जांच के बाद चिकित्सकों ने कोरोना बिमारी होने की बात बताया. और साथ में गए सभी पांच साथियों को एम्स से भगा दिया गया. पांच मजदूर घर लौट रहे हैं. घर लौट रहे मजदूर सत्येंद्र भुइयां ने इसकी जानकारी राहुल के परिवार वालों को दी. एसडीओ संजय पांडेय ने कहा कि उन्हें जानकारी मिली है. परिजन शव मंगाना चाहते हैं तो अॉन लाइन शव आ जाएगा.



रमकंडा प्रखंड के बलिगढ़ पंचायत के वार्ड सदस्यों द्वारा वर्तमान उपमुखिया मो मोस्ताक के विरोध में दिये गये अविश्वास प्रस्ताव कराने के आवेदन के आलोक में प्रखंड विकास पदाधिकारी रामजी वर्मा ने इसकी लिखित जानकारी जिला पंचायती राज पदाधिकारी को प्रेषित किया है. जिसमें उन्होंने वार्ड सदस्यों द्वारा दिये गये आवेदन की प्रति को संलग्न किया है. इस संबंध में पूछे जाने पर बीडीओ श्री वर्मा ने बताया कि उपमुखिया पर लगाये गये आरोपों की जांच की जायेगी. जांच के बाद सत्यता की पुष्टि होने पर अविश्वास प्रस्ताव स्वीकृत करते हुये आगे की प्रक्रिया शुरू की जायेगी.विदित हो कि पिछले 11 मई को पंचायत के सभी वार्ड सदस्यों ने बीडीओ को लिखित आवेदन देकर उपमुखिया के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव का अनुरोध किया था, जिसमें उन्होंने उपमुखिया पर पंचायत के विकास कार्यो में सहमति से लिये गये निर्णय में अक्सर बाधा पहुँचाये जाने का आरोप लगाया था.  वही महिला प्रतिनिधि के साथ अभद्र व्यवहार किये जाने,  महिला वार्ड सदस्यों को अनपढ़ महिला की संज्ञा देते हुये तानाशाही रवैया अपनाये जाने की शिकायत की थी. वहीं  गाली गलोज देकर बात किये जाने साथ ही वार्ड सदस्यों को परेशान करने, योजना के कार्यो की जांच कराने की धमकी दिए जाने का आरोप लगाया है. इधर दूसरी तरफ पंचायत के विकास कार्यों के संचालन को लेकर बलिगढ़ पंचायत के उपमुखिया को वित्तीय प्रभार सौंप दिया गया.

 20 मई 2020*

*मेदिनीनगर (पलामू)*
*===============*
*औरंगाबाद (महाराष्ट्र) से पलामू के डालटनगंज पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन।*

*झारखंड के 24 जिलों के 1057 श्रमिकों की हुई घर वापसी*

*रेलवे स्टेशन पर सभी का हुआ स्वास्थ्य परीक्षण*

*पलामू के श्रमिकों को किया गया कोरेन्टाइन, अन्य जिलों के श्रमिक अपने-अपने जिलों में भेजे गये*

*सभी श्रमिकों को रवानगी से पहले उपलब्ध कराये गये भोजन, ओआरएस पैकेट, पानी बोतल, मास्क*

*कदम-कदम पर हुआ सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन*
*===================*
कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण से बचाव को लेकर देशभर में जारी लॉक डाउन में महाराष्ट्र में काम कर रहे झारखंड के श्रमिक आज श्रमिक स्पेशल ट्रेन से डालटनगंज रेलवे स्टेशन पहुंचे। पलामू जिले के 202 श्रमिकों सहित झारखंड के 24 जिलों के 1057 श्रमिकों को आज महाराष्ट्र के औरंगाबाद से लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेन आई। स्पेशल ट्रेन में जिलावार कोच आवंटित किया गया था। यहां पहुंचे श्रमिकों में उत्साह का माहौल था कि वे अब अपने घर को पहुंच गये हैं।

उपायुक्त डॉ0 शांतनु कुमार अग्रहरि के निदेश पर पलामू जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन की मदद से सभी श्रमिकों को डालटनगंज रेलवे स्टेशन पर सुरक्षा मानकों का अनुपालन कराते हुए सकुशल उतारा गया। इसमें रेलवे प्रशासन का भी विशेष सहयोग रहा।

सभी श्रमिकों की स्टेशन परिसर के प्लेटफार्म संख्या-1 पर बने अस्थायी मेडिकल सेंटर में थर्मल स्कैनिंग की गयी। इसके पूर्व हैंड सैनेटाइजर से उनके हाथों को सैनेटाइज किया गया। इसके अलावा सभी श्रमिकों के बीच खाने का पैकेट, पानी बोतल, मास्क, ओआरएस पैकेट इत्यादि वितरण किया गया। पलामू जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन व रेलवे प्रशासन की तत्परता से श्रमिकों को ट्रेन से उतारने से लेकर मेडिकल स्कैनिंग और सम्मान रथों (बस) तक सोशल डिस्टेंसिंग सहित अन्य मानकों का विशेष ध्यान रखा गया। सम्मान रथों में भी श्रमिकों को सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए गंत्वय तक भेजा जा रहा था। श्रमिकों को आरोग्य सेतु एप्प भी डाउनलोड कराया गया।

पलामू जिले के प्रवासी श्रमिकों को सम्मान रथ (बस) पर सवार कर चियांकी एयरफील्ड में बने सहायता केन्द्र भेजा गया। सहायता केन्द्रों में लगे अधिकारियों एवं कर्मचारियों की टीम द्वारा आवश्यक प्रक्रियाओं को पूर्ण कर उन्हें कोरेन्टाइन करने की प्रक्रिया चल रही है। सहायता केन्द्र पर प्रवासी श्रमिकों को सूखा राशन भी उपलब्ध कराये जा रहे हैं।
अन्य जिलों के श्रमिकों को पूरी व्यवस्था देकर चिन्हित सम्मान रथों से पूरी सुरक्षा मानक का ध्यान रखते हुए उनके गृह जिलों के लिए रवाना किया गया। उन्हें अपने जिला तक ले जाने के लिए सम्मान रथ के साथ दंडाधिकारी एवं पुलिस बलों की प्रतिनियुक्ति की गयी थी, ताकि उन्हें सकुशल उनके गृह जिलों तक भेजा जा सके।

श्रमिकों के आगमन को लेकर डालटनगंज रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म व स्टेशन परिसर को सैनेटाइज किया गया था। वहीं सम्मान रथों एवं चियांकी एयरफील्ड परिसर को भी सैनेटाइज किया गया था, ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोका जा सके।

*पलामू उपायुक्त डॉ0 शांतनु कुमार अग्रहरि* ने स्पेशल ट्रेन से पलामू आनेवाले श्रमिकों का स्वागत करते हुए कहा है कि पलामू जिला प्रशासन श्रमिकों को उनके घरों तक सुरक्षित पहुंचाने को लेकर कटिबद्ध है। विभिन्न राज्यों में रोजगार की तलाश में गये श्रमिकों के पलामू आगमन पर उन्हें स्वरोजगार से जोड़ने का प्रयास चल रहा है। उनकी कौशल क्षमता का संवर्द्धन करते हुए रोजगार से जोड़ा जायेगा, ताकि उनके समक्ष रोजगार का संकट उत्पन्न नहीं हो।

*औरंगाबाद से आने वाली स्पेशल ट्रेन में इन 24 जिलों के श्रमिकों का हुआ आगमन :*

गढ़वा     -381
पलामू     -202
हजारीबाग -100
बोकारो    -53
गिरिडीह   -35
रांची        -32
चतरा      -31
लातेहार   -27
देवघर     -25
दुमका     -24
धनबाद     -20
कोडरमा    -19
पूर्वी सिहभूम -18
गोड्डा      -18
गुमला     -18
लोहरदगा -11
रामगढ़     -10
सिमडेगा     -9
पश्चिमी सिहभूम -7
खूंटी         -4
साहेबगंज   -4
सरायकेला  -3
जामताड़ा    -3
पाकुड़        -3

*=================*

*कोरोना वायरस टॉल फ्री हेल्पलाइन नंबर-1950*

*जिला नियंत्रण कक्ष हेल्पलाइन नंबरः-06562-222077*

*डाउनलोड करें : आरोग्य सेतु और झारखंड बाजार एप्प।*

*सायं 7ः00 बजे से अगले दिन प्रातः 7ः00 बजे तक आवागमन/परिवहन पूर्णतया प्रतिबंधित।*
*===============*
*#Team PRD(Palamu)*



 अधिवक्ता सह नोटरी पब्लिक अजीत कुमार सिन्हा के निधन पर शोक सभा का आयोजन। मेदिनीनगर, पलामू जिला अधिवक्ता संघ के सदस्य व नोटरी पब्लिक अजीत कुमार सिन्हा (63) बर्ष का आकस्मिक निधन 15 मई 2020 को रांची में हो गया था। वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उनके आकस्मिक निधन पर बुधवार को संघ भवन में शारीरिक दूरी का पालन करते हुए शोक सभा का आयोजन किया गया। व मृत आत्मा के शांति के लिए दो मिनट का मौन धारण किया गया। इसकी अध्यक्षता अधिवक्ता संघ के उपाध्यक्ष मनधारी दुबे व संचालन महासचिव सुबोध कुमार सिन्हा ने किया। इस मौके पर उपाध्यक्ष मनधारी दुबे ने कहा कि स्वर्गीय सिन्हा व्यवहार कुशल मृदुभाषी व हर दिल अजीज इंसान थे । मौके पर महासचिव सुबोध कुमार सिन्हा ने कहा कि श्री सिन्हा हम लोगों के बीच अब नहीं है ।लेकिन अधिवक्ता संघ के सदस्य के रूप में और नोटरी पब्लिक के रूप में उनका कार्य काफी सराहनीय रहा है ।वे सभी को साथ लेकर चलने वाले एक अच्छे इंसान थे। उनमें सहयोग की भावना कूट-कूट कर भरा था। विदित हो कि स्वर्गीय सिन्हा जेल हाता स्थित सर्वोदय नगर के रहने वाले थे। स्वर्गीय सिन्हा 17 मई 1983 को अधिवक्ता संघ में प्रवेश लिए थे। इस मौके पर संघ के पदाधिकारी के अलावा अधिवकता गण भी उपस्थित थे।



अम्फान तूफान की रफ्तार से रेलवे को खतरा, हावड़ा में लोहे की चेन से बांधे गए कोच

सुपर साइक्लोन 'अम्फान' के आज पश्चिम बंगाल के तट पर टकराने की आशंका जताई जा रही है. 185 से 155 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाले तूफान से सबसे बड़ा खतरा रेल सेवाओं को है. हावड़ा में रेल कोचों को चेन से बांधा गया है जिससे तूफानी हवाओं से रेल कोचों को नुकसान पहुंचाने से रोका जा सके.
रेलवे की ओर से हावड़ा के शालीमार साइडिंग में खड़ी रेल के कोच को चेन और ताले से बांधने का इंतजाम किया गया है. पूरे देश में कोरोना संकट के चलते भले ही रेल सेवाएं ठप पड़ी हों, लेकिन जो भी इस दौरान श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं, उन्हें भी सुरक्षा के मद्देनजर बंद करने की जानकारी दक्षिण पूर्व रेलवे की ओर से दी गई है.

जो ट्रेनें रेलवे ट्रैक पर खाली खड़ी हैं, उन्हें लोहे की मोटी-मोटी चेन स्किट से बांधा गया है और ताला लगाया गया है. ऐसा इसलिए किया गया है कि चक्रवाती तूफान में तेज हवा की वजह से ट्रेनें कहीं पटरी पर बिना इंजन के सरपट न दौड़ जाएं. अगर इंजन के बगैर एक बार दौड़ गई तो दुर्घटना घट सकती है फिर इसे काबू में करना बेहद मुश्किल साबित हो सकता है. यही कारण है कि ट्रेन को लोहे की चेन और ताले से बांध कर रखा जाता है.

तूफान के दौरान 155 से 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक हवाएं चलने और भारी बारिश का अनुमान है. भारत मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक इस दौरान बंगाल के तटीय जिलों में भारी बारिश होगी और समुद्र में चार-पांच मीटर ऊंची लहरें उठेंगी.

अम्फान तूफान से निपटने के लिए एनडीआरएफ की 19 टीमें पश्चिम बंगाल में तो 15 टीमें ओडिशा में तैनात की गई हैं. 6 टीमों को इस तरह से तैयार रखा गया है, कि जब भी जरूरत पड़े, उन्हें एयरलिफ्ट करके पहुंचा दिया जाए. चक्रवाती तूफान प्रभावित इलाकों में भारी तबाही मचा सकता है.

ओडिशा में लगाई जा रहीं रेत से भरी बोरियां

चक्रवाती तूफान अम्फान की दहशत इतनी है कि हावड़ा कॉरपोरेशन ने 24 घंटे के लिए कंट्रोल रूम चालू रखा है, जिससे लोगों तक किसी भी तरह की असुविधा होने पर तत्काल मदद पहुंचाई जा सके. ओडिशा के तटीय इलाकों में रेत से भरी बोरियां लगाई जा रही हैं जिससे समुद्री लहरों को बस्तियों तक आने से रोका जा सके. जगतसिंहपुर में तटीय इलाकों से बस्तियां खाली करा ली गई हैं. लोगों को शेल्टर होम में शिफ्ट किया जा रहा है.



ईद पर सीएम हेमंत सोरेन का तोहफा, 21 मई से सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा वेतन
रांची : ईद-उल-फितर पर्व को लेकर झारखंड सरकार ने कर्मचारियों को तोहफा दिया है. सीएम हेमंत सोरेन पर्व से पहले सभी पदाधिकारियों व कर्मचारियों को मई माह का वेतन भुगतान करने का निर्देश दिया है. इसको लेकर योजना सह वित्त विभाग के अधिसूचना जारी कर दी है. विभाग के अपर सचिव अविनाश कुमार सिंह ने सभी आयुक्तों, उपायुक्तों व कोषागारों को पत्र के माध्यम से जानकारी दी है.

पत्र में कहा गया है कि मई माह के वेतन सम्बंधी विपत्र 21 मई से कोषागार में जमा करें. ताकि, कोषागार पदाधिकारी द्वारा सम्बंधित विपत्र को पारित कर सकें. पत्र के अनुसार सभी सरकारी कर्मचारियों को 21 मई से वेतन भुगतान शुरू कर दिया जायेगा



भवनाथपुर : क्षेत्रीय विधायक भानु प्रताप शाही ने बुधवार को बुका गाँव के पनियाही टोला निवासी मृतक बबलू भुंइया की पत्नी रुक्मणी कुंवर को आपदा राहत कोष से चार लाख रूपये का चेक प्रदान किया। विदित हो कि बबलू भुंइया की मौत बीते दिनों मछली मारने के दौरान कड़िया डैम में डूबने से हो गयी थी। वहीँ विधायक भानु प्रताप शाही ने मृतक के पत्नी रुक्मणी कुंवर को सरकारी प्रावधान के अनुसार अंबेडकर आवास, विधवा पेंशन एवं राशन कार्ड मुहैया कराने के लिए पदाधिकारियों को निर्देश दिया। इस मौके पर बीडीओ उमेश मंडल, सीओ संदीप अनुराग टोपनो, थाना प्रभारी सीबी सिंह, सीआई मुंशी राम, धनलाल उरांव, राजस्वकर्मी मानस कुमार, विधायक प्रतीनिधी दयानंद सोनी, प्रखंड अध्यक्ष सुनील सिंह, अनिल चौबे, जेपी यादव, झामुमो के सुरेश गुप्ता समेत अन्य लोग उपस्थित थे।



 *झारखण्ड कैबिनेट के फैसले...*
===============
*झारखंड मंत्रालय, रांची*
===================
*झारखंड मंत्रालय में 20 मई 2020 को आयोजित मंत्रिपरिषद की बैठक में लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय*
==================
 *★ केंद्र प्रायोजित योजना "उग्रवाद प्रभावित जिलों में युवाओं के लिए कौशल विकास की योजना के अंतर्गत रांची, खूंटी, रामगढ़, सिमडेगा, दुमका, एवं गिरिडीह में एक-एक औ.प्र.सं. के निर्माण के लिए वित्तीय वर्ष 2019-20 में केंद्रांश: 20 करोड़ 65 लाख 75 हजार 560 रुपए एवं राज्यांश 13 करोड़ 77 लाख 17 हजार 40 रुपए इस प्रकार कुल 34 करोड़ 42 लाख 92 हजार 600 रुपए के व्यय की स्वीकृति एवं प्रशासनिक स्वीकृति दी गई।*

*★ पंचम झारखंड विधानसभा का द्वितीय (बजट) सत्र दिनांक 28 फरवरी 2020 से 23 मार्च 2020 के सत्रावसान की स्वीकृति दी गई।*

*★ कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रादुर्भाव की रोकथाम के लिए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली एवं स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, नई दिल्ली के द्वारा टेस्टिंग किट, इलाज के लिए सामग्री एवं दवा की आपूर्ति हेतु चिन्हित कंपनियों एवं भारत सरकार के निर्देशानुसार एमआरपी पर अन्य राज्यों के आपूर्तिकर्ता एजेंसियों से क्रय के लिए वित्त नियमावली के नियम 235 के प्रावधानों को शिथिल करते हुए नियम 245 के तहत कार्य हित में राज्य सरकार द्वारा किए गए मनोनयन की घटनोत्तर स्वीकृति दी गई।*

*★ ई कोर्ट प्रोजेक्ट के तहत राज्य के जिला न्यायालयों एवं झारखंड उच्च न्यायालय हेतू सृजित सिस्टम ऑफिसर के क्रमशः 22 एवं 1 कुल 23 पदों के दिनांक 1 अप्रैल 2020 से दिनांक 31 मार्च 2021 तक के लिए अवधि विस्तार की स्वीकृति दी गई।*

*★ राज्य खाद्य जांच प्रयोगशाला, नामकुम, रांची में अनुबंध के आधार पर कार्यरत खाद्य विश्लेषक श्री चतुर्भुज मीणा का अनुबंध अवधि विस्तार की स्वीकृति दी गई।*

*★ पलामू जिला अंतर्गत अंचल सदर मेदनीनगर के ग्राम-पोखराहा खुर्द में कुल रकबा 10 एकड़ गैरमजरूआ भूमि केंद्रीय विद्यालय की स्थापना के लिए केंद्रीय विद्यालय संगठन, मानव संसाधन विकास विभाग, भारत सरकार, नई दिल्ली को नि:शुल्क भू- हस्तांतरण करने की स्वीकृति दी गई।*

*★ NABARD-RIDF-XXI के तहत 29 जलछाजन परियोजनाओं को 2 वर्ष की अवधि विस्तार दी गई।*

*★ विधायक योजना अंतर्गत कोविड-19 के दौरान आर्थिक समस्याओं का सामना करने वाले परिवारों को आर्थिक सहायता के लिए प्रावधान के संबंध में निर्गत विभागीय संकल्प संख्या-1346, दिनांक 27 अप्रैल 2020 पर घटनोत्तर स्वीकृति दी गई।*

*★ विधायक योजना अंतर्गत DC विपत्र लंबित रहते हुए भी चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 में आवंटित राशि में से 25 लाख की निकासी की स्वीकृति के संबंध में निर्गत विभागीय संकल्प संख्या-1349, दिनांक 27 अप्रैल 2020 पर घटनोत्तर स्वीकृति दी गई।*

*★ प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न  योजना के तहत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के लाभुकों को अप्रैल 2020 से जून 2020 तक की अवधि के लिए 5 किलोग्राम खाद्यान्न (चावल) प्रति लाभुक प्रतिमाह मुफ्त वितरित करने हेतु खाद्यान्न के परिवहन, हथालन एवं वितरण कार्य के लिए 84.95 करोड़ रुपए की स्वीकृति दी गई।*

*★ ग्रामीण विकास विभाग (झारखंड राज्य जलछाजन मिशन) द्वारा RIDF-XXI के तहत 29 जलछाजन परियोजनाओं के कार्यान्वयन हेतु राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) से 22923.21 लाख रुपये के ऋण आहरण की स्वीकृति दी गई।*

*★ पेयजल एवं स्वच्छता विभाग द्वारा RIDF-XXV के तहत 6 ग्रामीण जलापूर्ति परियोजनाओं के कार्यान्वयन हेतु राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) से 10468.38 लाख रुपये के ऋण आहरण की स्वीकृति दी गई।*

*★ वित्तीय वर्ष 2020-21 में राज्य में नोबेल कोरोना वायरस (कोविड-19) की रोकथाम एवं बचाव संबंधी कार्यों के लिए झारखंड आकस्मिकता निधि (JCF) से कुल राशि एक सौ करोड़ रुपये अग्रिम स्वीकृति दी गई।*

*★ वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट प्राक्कलन पर घटनोत्तर स्वीकृति दी गई।*

*★Jharkhand Economic Survey 2019-20 को विधानसभा के पटल पर प्रस्तुत करने की स्वीकृति दी गई।*




इस कोरोना महामारी में प्रवासी मजदूर दूसरे राज्यों से अपने घर जान जोखिम में डालकर  घर लौट रहे हैं उनको रास्ते में खाने-पीने और पैदल चलकर आने में बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ा रहा है गढ़वा पॉलिटेक्निक कॉलेज के द्वारा दूसरे राज्यों से आ रहे हैं प्रवासी मजदूरों के बीच 300 पैकेट भोजन का वितरण सोह स्टैंड में किया गया है। वही गढ़वा पॉलिटेक्निक कॉलेज के प्राचार्य डॉ अरविंद कुमार राय ने बताया कि प्रवासी मजदूर दूसरे राज्यों से अपनी जान जोखिम में डालकर घर लौट रहे हैं इनको खाने पीने में बहुत है प्रकार की दिक्कतें हो रही है इसी को देखते हुए हम सभी कॉलेज के स्टॉप  ने प्रवासी मजदूरों के लिए 300 पैकेट का वितरण सोह स्टैंड में किया गया और आगे भी करते रहेंगे उन्होंने यह भी कहा कि हम लोग इस बीपता की घड़ी में हम सभी लोग को बढ़ चढ़के हिस्सा लेना चाहिए जाति धर्म से उठकर बिना भेदभाव  किए बिना आगे आकर लोगों को सहयोग करना चाहिए। मौके पर उपस्थित नीतीश तिवारी, उपेंद्र, वियकान्त तिवारी,मनीराम,राकेश,अजितउदय,रजनीकांत और अन्य लोग मौजूद थे।



भाजपा  जिला क्वॉरेंटाइन सेंटर रिलीफ टीम द्वारा मेराल तथा गोंदा में रखे गए लोगों तथा कोरोना वारियर्सों को कराया गया अल्पाहार, बांटे मास्क

बलराम शर्मा
गढ़वा : जिला भाजपा क्वॉरेंटाइन सेंटर रिलीफ टीम के प्रभारी सह जिला उपाध्यक्ष संजय भगत द्वारा आज गोधूलि की बेला में अपने टीम के साथ मेराल एवं गोंदा कोरेनटाइन सेंटर पर पहुंचकर वहां रह रहे लोगों की कुशल क्षेम पूछी  तथा  सभी के बीच अल्पाहार का वितरण किया। इसकी शुरुआत मेराल हाई स्कूल से की गई  यहां क्वॉरेंटाइन पर रखे गए 44 लोगों के के साथ-साथ उत्क्रमित मध्य विद्यालय ब्लॉक कॉलोनी मेराल एवं मध्य विद्यालय गोंदा क्वॉरेंटाइन सेंटर पर सभी लोगों के बीच अल्पाहार के साथ मिनरल वाटर एवं मास्क का वितरित किया गया। इस दौरान कोरोना वारियर्स  पुलिस के जवानों को भी अल्पाहार कराया गया। क्वॉरेंटाइन सेंटर रिलीफ टीम के प्रभारी संजय भगत ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से उत्पन्न विपरीत परिस्थिति में सभी लोगों को अपनी भूमिका निभानी चाहिए। उन्होंने प्रवासी लोगों को सरकार से होम क्वॉरेंटाइन के बदले पूर्व की भांति सरकारी क्वॉरेंटाइन पर रखने की मांग की। उन्होंने  समाज के अग्रणी लोगों से  इस मुश्किल हालात में राजनीतिक भेदभाव से ऊपर उठकर समाज तथा देशहित में कार्य करने की आवश्यकता बतलाई। इस अवसर पर भाजपा नेता विजय प्रसाद, डॉ लालमोहन, अमित कुमार, कृष्णा प्रसाद कुशवाहा, शंभू नाथ दुबे, बलराम साहू, युवा समाजसेवी सत्यम मल्होत्रा, पीयूष जायसवाल, आशुतोष जायसवाल सहित अन्य लोग शामिल थे।


*झारखण्ड मंत्रालय, रांची*
=======================

*प्रत्येक 20 किलोमीटर पर प्रवासी राहगीरों के लिए हाईवे पर खुलेंगे कम्युनिटी




*राँची*।  मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रवासी राहगीरों के लिए राज्य की सीमा में हाईवे पर प्रत्येक 20 किलोमीटर पर कम्युनिटी किचन खोलने  का कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस तरह के कम्युनिटी किचन को जिला प्रशासन के सहयोग से चलाया जाएगा। अभी तक ऐसे कम्युनिटी किचन खोलने के लिए  94 जगह को चिन्हित भी कर लिया गया है। यहां नि:शुल्क भोजन और पानी की व्यवस्था की जाएगी। इन स्थानों पर एकत्रित लोगों को समीप के सुरक्षित शिविर में ले जाया जाएगा ताकि  इन्हें वाहन से उनके गंतव्य तक पहुंचाने की व्यवस्था भी की जा सके। उन्होंने कहा कि झारखंड के साथ-साथ दूसरे राज्य के लोग जो झारखण्ड में फंसे है अथवा झारखंड से गुजर कर अपने राज्य जा रहे है उन्हें उनके गंतव्य तक पहुंचने में भी हमारी सरकार सहायता कर रही है। 

*झारखंड के लोगों को इंसानियत और सौहार्द का दुनिया के सामने उदाहरण प्रस्तुत करना है*

मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन ने कहा कि विश्व में आए इस महामारी से हो रहे संकट में लोगों को मानवता नहीं खोनी चाहिए। उन्होंने कहा कि झारखंड के लोगों को इंसानियत और सौहार्द का दुनिया के सामने उदाहरण बन्ना चाहिए। झारखंड के बाहर 7 लाख से अधिक झारखंडी मजदूरों  के फंसे होने की सूचना प्राप्त हुई जिनमें से 6 लाख से अधिक मजदूरों के लिए संबंधित राज्य सरकार से सामंजस्य स्थापित कर रहने खाने का प्रबंध कर दिया गया। वही वैसे मजदूर जो वापस झारखंड आना चाहते हैं उनके लिए स्पेशल बसें भेजी जा रही हैं और श्रमिक स्पेशल ट्रेन के माध्यम से भी उन्हें वापस अपने घर लाया जा रहा है। लाखों की संख्या में मजदूरों को अपने घर वापस लाया गया है। वही प्रतिदिन हजारों की संख्या में लोगों के घर वापसी में सरकार सहायता कर रही है।

*दीदी किचन के माध्यम से रोजाना 45 हजार से अधिक लोगों को दो वक्त का भोजन कराया जा रहा*

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में व्यापी लॉक डाउन में कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे इसलिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री दाल भात योजना के तहत करोड़ों लोगों को दो वक्त का पका हुआ भोजन परोसा गया है । राज्य सरकार मुख्यमंत्री दीदी किचन योजना के तहत 6432 दीदी किचन के माध्यम से रोजाना 45 हजार से अधिक लोगों को दो वक्त का भोजन कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि रोजाना खबरें सामने आ रहीं है कि मजदूर सड़कों और रेल की पटरियों पर पैदल चल रहे, दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। कोई प्रवासी मजबूरी में झारखंड की सीमा में पैदल चल कर अपने गंतव्य को न जाये उसके लिए हमारी सरकार वाहन की व्यवस्था कर रही है। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति चाहे वह झारखंड का हो या दूसरे राज्य का हमारी सरकार द्वारा हर जरूरतमंद को खाना खिलाया जा रहा, स्वास्थ्य जांच और आराम की व्यवस्था कराकर गंतव्य तक पहुंचाया जा रहा है।


रमकंडा
मंगलवार को रमकंडा प्रखंड कार्यालय के सभागार में प्रखंड विकास पदाधिकारी रामजी वर्मा ने मनरेगाकर्मियों के साथ समीक्षात्मक बैठक की। इस दौरान उन्होंने संबंधित कर्मियों से वर्तमान में संचालित मनरेगा योजनाओं की स्थिति के बारे में जानकारी ली। उन्होंने निर्देश देते हुये कहा कि लॉकडाउन के दौरान दूसरे प्रदेश से अपने गांव पहुंचे मजदूरों को  मनरेगा योजनाओं से जोड़ने का सख्त निर्देश दिया।  इस दौरान उन्होंने प्रखंड के सभी पंचायतों में सरकार के दिशानिर्देश के अनुसार मनरेगा योजनाओं का चयन करने की बात कही। बैठक के दौरान प्रत्येक पंचायत में 500 एकड़ में टीसीबी योजना व मेड़बंदी योजना संचालित करने का निर्देश दिया।इसके साथ ही प्रत्येक पंचायत के एक ही राजस्व ग्राम में पांच एकड़ रैयती जमीन में आम बागवानी योजना का चयन करने की बात कही।वहीँ निर्देश देते हुये उन्होंने जल संरक्षण के लिये चापानल के पास सोखता पिट व पानी के बहाव कम करने के लिये एलबीएस योजना का चयन करने की बात कही।बैठक में प्रखंड के हरहे व चेटे पंचायत में खेल मैदान का निर्माण कराने का निर्देश दिया। इसके साथ ही अपने घर पहुंचे प्रवासी मजदूरो को मनरेगा योजनाओं में काम दिये को लेकर रोजगार सेवक को सख्त निर्देश दिया।कहा कि लापरवाही बरतने वाले संबंधित कर्मियों पर सीधे कारवाई की जायेगी।इस मौके पर जीपीएस राजेश कुमार चौधरी, कनीय अभियंता कुमार विशाल, जितेंद कुमार,मो तारिक एजाज, पंचायत सेवक भुनेश्वर सिंह, रोजगार सेवक राजेश कुमार, हरिनारायण,अमृत अन्य कर्मी उपस्थित थे।

COMMENTS

नाम

01,16,02,39,03,23,04,31,05,240,06,4,07,183,08,61,09,93,10,28,11,36,12,3,13,43,14,29,15,10,16,5,17,11,18,63,19,177,20,2,21,398,22,4,23,1,24,1,25,12,26,78,27,10,28,4,29,10,30,1360,31,3,32,3,33,6,34,1,35,1,36,1,37,1,38,1,39,3,40,3,41,2,42,1,43,20,44,1,45,4,46,2,47,2,48,8,50,1,51,27,53,2,54,5,55,1,56,2,57,1,58,1,59,579,60,2,61,3,62,5,63,1,64,3,65,2,66,2,70,186,72,2,फिटनस,10,andra,5,Big Story,35,Bihar,77,Bollywood,9,Breaking News,24,business,7,Chhattisgarh,197,coronavirus,156,crime,20,Delhi,17,education,12,food news,8,Gadgets,1,Gujarat,235,haryana,29,himachal pradesh,649,jaunpur,525,Jharkhand,1215,Jharkhand 19,2,jyotish,16,law,1,Lockdown,225,madhya pradesh,443,maharashtra,16,MAHARASHTRA 51,21,maharastra,161,New Delhi,25,News,56,poem,1,politics,26,Pragati Media,3395,punjab,629,rajasthan,383,Real story,2,Religion,13,tecnology,10,Uttar Pradesh,1363,Uttrakhand,21,West Bengal,2,
ltr
item
Pragati Media : Hindi News, Breaking News, All India News: bulletin News from Jharkhand urban rural areas:-प्लास्टिक के नीचे गुजर-बसर करने पर मजबूर हैं भुइया परिवार
bulletin News from Jharkhand urban rural areas:-प्लास्टिक के नीचे गुजर-बसर करने पर मजबूर हैं भुइया परिवार
प्लास्टिक के नीचे गुजर-बसर करने पर मजबूर हैं भुइया परिवार
https://1.bp.blogspot.com/-FNZdt3Z6tIs/XsVkyPL5xpI/AAAAAAAAW0U/idlAnBHvPa0o6CoaA_2I7edGKYMUNA1FACLcBGAsYHQ/s640/IMG_20200520_170628_148.jpg
https://1.bp.blogspot.com/-FNZdt3Z6tIs/XsVkyPL5xpI/AAAAAAAAW0U/idlAnBHvPa0o6CoaA_2I7edGKYMUNA1FACLcBGAsYHQ/s72-c/IMG_20200520_170628_148.jpg
Pragati Media : Hindi News, Breaking News, All India News
https://www.pragatimedia.org/2020/05/Plastic-ke-niche-Gujar-Basar-kar-Raha-hi-bhaiya-family-Jharkhand-urban-ruler-areas-big-news.html
https://www.pragatimedia.org/
https://www.pragatimedia.org/
https://www.pragatimedia.org/2020/05/Plastic-ke-niche-Gujar-Basar-kar-Raha-hi-bhaiya-family-Jharkhand-urban-ruler-areas-big-news.html
true
7652808033801587123
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Read This News Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS PREMIUM CONTENT IS LOCKED STEP 1: Share. STEP 2: Click the link you shared to unlock Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy